Saturday, 6 May 2017

मोबाइल वॉलेट क्या है? जानिए और भी लोकप्रिय मोबाइल वॉलेट के बारे

Image result for mobile wallet
आजकल शायद अधिकतर लोग स्मार्टफोन इस्तेमाल कर रहे हैं और मोबाइल वॉलेट भी स्मार्टफोन यूजर की जिंदगी का हिस्सा बन गए हैं। अधिकतर लोग किसी ना किसी वजह से मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल करते ही हैं। किसी के लिए मोबाइल वॉलेट फोन रीचार्ज तो किसी के लिए टैक्सी के पैसे चुकाने का जरिया है। वहीं कुछ लोग कैफे कॉफी डे या किसी मेडिकल शॉप पर भी भुगतान के लिए मोबाइल वॉलेट का इस्तेमाल कर रहे हैं।



आज बाजार में लगभग हर तरह के ब्रांडेड वॉलेट मौजूद हैं, जिनमें ग्लोबल से लेकर भारतीय, टेक कंपनी से लेकर टेलीकॉम प्लेयर और बैंक तक शामिल हैं।

कैशलैस भुगतान करने का समय पूरी तरह हम पर निर्भर करता है। आज व्हाट्सऐप का इंस्टेंट मैसेजिक पर कब्जा है तो पेटीएम सबसे बड़े यूजरबेस के साथ देश का सबसे बड़ा मोबाइल वॉलेट है। पेटीएम के दावे के मुताबिक उसका यूजर बेस 100 मिलियन से ज्यादा है।

सीधे तौर पर कहें, तो मोबाइल वॉलेट का यह वो युग है जो अर्थव्यवस्था में बदलाव के साथ एक कैशलैस सोसायटी का निर्माण कर रहे हैं। लगभग सभी बड़ी टेक कंपनियों के अपने वॉलेट हैं। ऐप्पल पे, गूगल वॉलेट और सैमसंग पे इनमें अहम नाम हैं। लेकिन इस सबके अलावा सभी वॉलेट एक-दूसरे से अलग हैं, उदाहरण के लिए अगर आप ओला कैब या ग्रॉसरी के लिए ओला स्टोर इस्तेमाल करते हैं तो आपको एक ओला मनी वॉलेट की जरूरत पड़ेगी और आप इसे पेटीएम बैलेंस से रीचार्ज भी नहीं कर सकते।  लिए मोबाइल वॉलेट में पैसे एड कर सकते हैं।कई ई-कॉमर्स और टिकट बुकिंग साइट जैसे बुकमायशो, ग्रुपॉन, रेडबस, मेकमायट्रिप, स्नैपडील, फ्लिपकार्ट, अमेज़न आदि ऑनलाइन ग्राहकों को चेकआउट के समय मोबाइल वॉलेट के जरिए भुगतान करने का विकल्प देती हैं। आप अपनी पसंद के मोबाइल वॉलेट को इस्तेमाल कर सुरक्षित ऑनलाइन भुगतान कर सकते हैं। इसके साथ ही अधिकतर मोबाइल वॉलेट ऑनलाइन पेमेंट करने पर कैशबैक ऑफर भी देती हैं। आप संबंधित प्रोमो या कूपन कोड का इस्तेमाल कर मोबाइल वॉलेट से फायदा भी ले सकते हैं।


इससे पहले कि हम भारत में उपलब्ध कुछ लोकप्रिय मोबाइल वॉलेट की बात करें हम आपको ऑनलाइन पेमेंट करने के लिए मोबाइल वॉलेट के इस्तेमाल के कुछ तरीके बताएंगे।
  • किसी मोबाइल वॉलेट ऐप पर अपनी ईमेल आईडी और पासवर्ड का इस्तेमाल कर मुफ्त में साइन अप किया जा सकता है।
  • एक बार अपने अकाउंट में लॉगइन करने के बाद आप अपनी सुविधानुसार नेट बैंकिंग ट्रांसफर, डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, एटीएम ट्रांसफर जैसे विकल्प चुन सकते हैं।
  • इसके बाद आप ऑनलाइन प्रीपेड मोबाइल पेमेंट (पोस्टपेड भी), डीटीएच रीचार्ज, डेटाकार्ड बिल पेमेंट, इलेक्ट्रिसिटी बिल पेमेंट, गैल बिल पेमेंट, लैंडलाइन फोन बिल पेमेंट करने के लिए वॉलेट में पैसे डाल सकते हैं।
तो, क्या आपको अपने फोन में कई अलग-अलग वॉलेट इंस्टॉल करने की जरूरत है या सिर्फ कुछ ऐप से ही आपका काम चल जाएगा? आज हम आपको कुछ लोकप्रिय मोबाइल वॉलेट के बारे में बताएंगे जो हमें बेहद काम के लगे।
 
तीन तरह के हैं मोबाइल वॉलेट

आरबीआई के मुताबिक देश में तीन अलग-अलग तरह के मोबाइल वॉलेट हैं। इनमें क्लोज्ड वॉलेट, सेमी-क्लोज्ड वॉलेट और ओपन वॉलेट शामिल हैं।

क्लोज्ड वॉलेट को किसी कंपनी विशेष (या ऑनलाइन मर्चेंट) के सामान और सर्विस के लिए ही इस्तेमाल किया जा सकता है। इस तरह के वॉलेट से किसी तरह का कैश जमा नहीं किया जा सकता है। मेकमायट्रिप, जबॉन्ग आदि इस तरह के क्लोज्ड वॉलेट के उदाहरण हैं। मेकमायट्रिप या जबॉन्ग पर किसी प्रोडक्ट की वापसी या कोई ऑर्ड कैंसल होने पर अगर आपके अकाउंट में कोई रिफंड वापस आता है तो आप उसका इस्तेमाल सिर्फ उसी मर्चेंट पर खरीददारी के लिए कर सकते हैं।

सेमी-क्लोज्ड वॉलेट से भी कोई कैश नहीं निकाला जा सकता। इस तरह के वॉलेट से कई अलग-अलग जगह (मर्चेट लोकेशन) पर सामान और सर्विस के लिए किए जाने वाले पेमेंट का भुगतान किया जा सकता है। बशर्ते मोबइल वॉलेट कंपनी का दूसरी कंपनियों के साथ टाई-अप हो। पेटीएम, मोबिक्विक, पेयूमनी, ऑक्सीजन आदि कुछ इस तरह के वॉलेट के उदाहरण हैं। भारत में सबसे ज्यादा इस्तेमाल इसी तरह के वॉलेट का होता है।

ओपन वॉलेट से कैश निकाला जा सकता है। इसके अलावा इनका इस्तेमाल भी सेमी-क्लोज्ड वॉलेट की तरह ही किया जा सकता है। वोडाफोन का एम-पैसा इसका सबसे बेहतर उदाहरण है।1) पेटीएम 
पेटीएम की शुरुआत के वक्त इससे सिर्फ मोबाइल रीचार्ज, डीटीएच प्लान और बिल पेमेंट किया जा सकता था। इसके बाद फरवरी 2014 में कंपनी ने ई-कॉमर्स क्षेत्र में कदम रखा। पेटीएम के वॉलेट पार्टनर में उबर, बुकमायशो और मेकमायट्रिप समेत कई कंपनिया शामिल हैं। इसके अलावा शॉपिंग, ट्रैवल, एंटरटेनमेंट और फूड क्षेत्र की भी कई कंपनियों से पेटीएम की साझेदारी है।

गौर करने वाली बात है, पेटीएम अकेला ऐसा मोबाइल वॉलेट है जो आईआरसीटीसी पर बुकिंग सपोर्ट करता है और इसके पास पेमेंट बैंक सेटअप के लिए आरबीआई का लाइसेंस भी है। इस लाइसेंस से पेटीएम करंट व सेविंग अकाउंट डिपॉजिट करने, डेबिट कार्ड जारी करने व इंटरनेट बैंकिंग सर्विस ऑफर करता है।

अधिकतर दूसरे मोबाइल वॉलेट की तरह ही पेटीएम से भी आप किसी को भी मोबाइल नंबर या बैंक अकाउंट के जरिए पैसे भेज सकते हैं। पेटीएम वॉलेट को डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग और आईएमपीएस मर्चेंट पेमेंट के जरिए रीचार्ज कर सकते हैं।

पेटीएम अपने फोन में डाउनलोड करने के लिए एक अच्छा ऐप है और देशभर में फैले इसके पार्टनर की वजह से इसे इस्तेमाल करना आसान है। चाहें आपको उबर कैब बुक करनी हो या फूडपांडा से खाना ऑर्डर करना हो, पेटीएम है ना। पेटीएम अब अपनी ई-कॉमर्स साइट पर अच्छे ऑफर के साथ ग्राहकों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर रहा है। इसके अलावा पेटीएम पर आपक हर तरह के इलेक्ट्रॉनिक, होम अप्लायंस, फुटवियर भी कैशबैक ऑफर के साथ खरीद सकते हैं।

पेटीएम पर हाल में मेट्रो कार्ड रीचार्ज की सुविधा भी शुरू हुई है। दिल्ली व मुंबई मेट्रो के यात्री अब आसानी से बिना लाइन में लगे पेटीएम से ही मेट्रो कार्ड रीचार्ज कर सकते हैं। हर वीकेंड पर पेटीएम यूजर को वीकेंड बाजार समेत कई दूसरे प्रोडक्ट पर भारी डिस्काउंट भी देता है।

ट्विटर पर #PaytmKaro टैग के साथ पेटीएम ने खासी लोकप्रियता हासिल की है। इसके अलावा किसी भी तरह की शिकायत के लिए 24×7 कस्टमर केयर के लिए आप कभी भी care@paytm.com पर ईमेल कर सकते हैं।
2) फ्रीचार्ज
फ्रीचार्ज से आप भारत में किसी तरह के प्रीपेड मोबाइल फोन, पोस्टपेड मोबाइल, इलेक्ट्रिसिटी बिल पेमेंट, डीटीएच और डेटा कार्ड रीचार्ज कर सकते हैं। फ्रीचार्ज से भी मेट्रो कार्ड रीचार्ज किया जा सकता है। फ्रीचार्ज वॉलेट को डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और नेट बैंकिंग के जरिए रीचार्ज किया जा सकता है। इस वॉलेट को ऐप व वेब ब्राउजर दोनों से ही इस्तेमाल कर सकते हैं।

अप्रैल 2015 में स्नैपडील द्वारा फ्रीचार्ज का अधिग्रहण कर लिया गया था। सिंतबर 2015 में फ्रीचार्ज ने फ्रीचार्ज और स्नैपडील पर ट्रांजेक्शन के लिए अपना डिजिटल वॉलेट लॉन्च किया। उस समय कंपनी ने दावा किया था कि उसके पास 5 मिलियन से ज्यादा वॉलेट यूजर बेस है।

अगर आप लगतार स्नैपडील या इसके नए वेंचर शोपो, फाइंडमायस्टाइल का इस्तमाल करते हैं तो फ्रीचार्ज का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा फटाफट रीचार्ज और बिल भरने के लिए यह एक आसान तरीका है।
3) मोबिक्विक
मोबिक्विक सिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड के मोबाइल वॉलेट मोबिक्विक का इस्तेमाल भी मोबाइल रीचार्ज और बिल पेमेंट के लिए किया जाता है। लेकिन बुकमायशो, मेकमायट्रिप, डोमिनोज पिज़्ज़ा, ईबे और दूसरे मर्चेंट भी मोबिक्विक के जरिए पेमेंट स्वीकर करते हैं। मोबिक्विक की वेबसाइट पर ऑनलाइन व ऑफलाइन दोनों पार्टनर के लिए कैशबैक ऑफर का एक सेक्शन है। सबसे खास है मोबिक्विक की ऑफलाइन पार्टनर के साथ हुई साझेदारी जैसे कैफे कॉफी डे में अगर आपके पास कैश नहीं है तो आप मोबिक्विक के जरिए पेमेंट कर सकते हैं।

मोबिक्विक ने कुछ पिछले साल अक्टूबर में अपनी वेबसाइट पर 25 मिलियन से ज्यादा यूजर बेस और 4,00,000 से ज्यादा हर रोज ट्रांजेक्शन होने का दावा किया था। मोबिक्विक पर भी नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के जरिए टॉप अप किया जा सकता है। इसके अलवा मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी के इस्तेमाल के साथ ही आप अपने दोस्तों और परिवार के बीच पैसे का लेनदेन भी कर सकते हैं।

इसके अलावा इस ऐप को डाउनलोड करने की एक दूसरी वजह है कि मोबिक्विक डोरस्टेप कैश कलेक्शन सर्विस ऑफर करता है जिसके तहत यह उन यूजर के लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद जिनके पास कोई बैंक अकाउंट या क्रेडिट कार्ड नहीं है। फिलहाल कैश कलेक्शन दिल्ली, मुंबई, गुड़गांव और जयपुर में उपलब्ध है। मोबिक्विक वॉलेट में एक कैलेंडर महीने में अधिकतम 10,000 रुपये एड किये जा सकते हैं। अगर आप किसी ऐसे मोबाइल वॉलेट की तलाश में है जो ऑफलाइन मजबूत उपस्थिति दर्ज करता हो तो निश्चित तौर पर यह एक सबसे बेहतर विकल्प है।
4) एयरटेल मनी
एयरटेल मनी एक सेमी-केलोज्ड वॉलेट है जिससे कैश नहीं निकाला जा सकता और ना ही कोई छूट मिलती है। एयरटेल मनी से रीचार्ज किया जा सकता है। इसके अलावा कॉन्टेक्ट्स, और बैंक अकाउंट को पैसे ट्रांसफर किए जा कते हैं। बिल पेमेंट किया जा सकता है और ऑनलाइन शॉपिंग का भुगतान भी किया जा सकता है। एयरटेल मनी का इस्तेमाल टिकट बुक करने के लिए भी कर सकते हैं लेकिन यह बहुत शानदार यूजर अनुभव नहीं देता।

इस ऐप से एनएफसी-बेस्ड पेमेंट के साथ रिक्वेस्ट भेजी जा सकती है और बिना वॉलेट में पैसे डाले बिना ही डेबिट/क्रेडिट कार्ड या नेट बैंकिंग के जरिए ट्रांजेक्शन किया जा सकता है।

एयरटेल मनी वॉलेट में किसी एयरटेल मनी आउटलेट या एक एयरटेल रिलेशनशिप सेंटर से कैश डाला जा सकता है। यह ऐप उन लोगों के लिेए ज्यादा काम का है जो अपने एयरटेल प्रीपेड सिम को रीचार्ज करते रहते हैँ। एयरटेल मनी उबर जैसे दूसरे पार्टनर के साथ भी साझेदारी कर रहा है। एयरटेल मनी भी उन चुनिंदा वॉलेट में शामिल है जिन्हें आरबीआई से लाइसेंस मिला है। इसका मतलब है कि एयरटेल ब्याज ऑफर कर सकता है। इसके साथ ही यह अपना डेबिट कार्ड भी जारी कर सकता है।
5) वोडाफोन एम-पैसा
वोडाफोन एम-पैसा भारत का सबसे बड़ा कैश आउट नेटवर्क होने का दावा करता है। वॉलेट का दावा है कि देशभर में इसके 85,000 से ज्यादा एम-पैसा एजेंट हैं। इस सर्विस से किसी को पैसे भेजने के साथ-साथ, प्रीपेड रीचार्ज, डीटीएच कनेक्शन, पोस्टपेड वोडाफोन नंबर, पानी-बिजली बिल और ऑनलाइन शॉपिंग की जा सकती है। इसकी इनबिल्ट आईएमपीएस सर्विस के जरिए बैंक या किसी मोबाइल नंबर पर पैसे ट्रांसफर किया जा सकता है। लेकिन अलग-अलग स्लैब के लिए अगल चार्ज लगता है जैसे- अगर आप किसी बैंक अकाउंट या एम-पैसा अकाउंट में 2000 रुपये ट्रांसफर करते हैं तो आपके 38 रुपये शुल्क देना होगा। डीटीएच और प्री-पेड रीचार्ज एम-पैसा से मुफ्त में किए जा सकते हैं।

बिजनेस कॉरेसपॉन्डेंट के लिए एम-पैसा काफी काम का है क्योंकि इससे आप अपने वर्चुअल बैलेंस को बिना किसी ज्यादा कठिनाई के कैश में बदल सकते हैं। इसके अलावा जिसके पास कोई बैंक अकाउंट नहीं है उसके लिए भी एम-पैसा एक काम का विकल्प है।
6) ऑक्सीजन वॉलेट
ऑक्सीजन वॉलेट से यूजर टॉप-अप कर मोबाइल डेटा रीचार्ज, डीटीएच और डेटा कार्ड रीचार्ज कर सकते हैं। इसके अलावा मोबाइल, लैंडलाइन और इलेक्ट्रिसिटी बिल का भी भुगतान किया जा सकता है। यूजर ऑक्सीजन वॉलेट का इस्तेमाल कर किसी बैंक अकाउंट में सीधे पैसों का लेनदेन कर सकते हैं।

इस ऐप से यूजर को किसी सर्विस का इस्तेमाल करने पर रिवार्ड पॉइंट भी मिलते हैं जिनका इस्तेमाल वो पार्टनर वेबसाइट पर खरीददारी के लिए कर सकते हैं। ऑक्सीजन वॉलेट को आरबीआई से लाइसेंस मिला हुआ है और इसका दावा है कि यह भारत का पहला नॉन-बैंक व़लेट है जिसने इंस्टेंट मनी ट्रांसफर के लिए एनपीसीआई (नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया) के साथ साझेदारी की है। कंपनी के मुताबिक, ऑक्सीजन वॉलेट में अधिकतम 10,000 रुपये तक का बैलेंस हो सकता है। एक दिन में अधिकतम 5,000 रुपये का ट्रांजेक्शन किया जा सकता है जबकि एक महीने में 10,000 रुपये तक का।
7) चिल्लर
चिल्लर से आप अपनी फोनबुक में मौजूद किसी कॉन्टैक्ट को कुछ सेकेंड्स में ही बिना उनका अकाउंट नंबर, आईएफएससी कोड और ओटीपी का इंतजार किए बिना पैसे भेज सकते हैं। सिर्फ एचडीएफसी बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा ग्राहक पैसे भेजने के लिए इस सर्विस का इस्तेमाल कर सकते हैं जबकि दूसरे बैंक के ग्राहक इस ऐप का इस्तेमाल कर पैसे प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए अकाउंट का नेट बैंकिंग या मोबाइल बैंकिंग के जरिए इनेबल होना जरूरी है इसके लिए एमएमआईडी रिक्वेस्ट भेजी जा सकती है और एमपीआईएन भी जेनरेट किया जा सकता है।

अगर आप एक एचडीएफी या बैंक ऑफ बड़ौदा ग्राहक हैं तो यह ऐप बिल भरने, मोबाइल, डीटीएत और डेटा कार्ड रीचार्ज के लिए परफेक्ट है। यह वॉलेट सीधे आपके बैंक अकाउंट से ट्रांजेक्शन करता है और किसी थर्ड-पार्टी वॉलेट की जरूरत नहीं होती। चिल्लर का इस्तेमाल किसी मर्चेंट या यूजर द्वारा क्यूआर कोड का इस्तेमाल कर पैसे लेन या देने के लिए भी किया जा सकता है।

अगर आप एचडीएफसी ग्राहक हैं तो चिल्लर ऐप का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि फिर आपको अपने पैसे अलग-अलग जगह नहीं रखने होंगे। दूसरे लोगों के लिए चिल्लर डाउनलोड करने के कारण बहुत कम हैं।
7) पेयूमनी
पेयू ने भारत में अपनी ई-वॉलेट सर्विस पेयूमनी लॉन्च की। इस वॉलेट से क्रेडिट कार्ड, नेटबैंकिंग, डेबिट कार्ड के जरिए ऑनलाइन पेमेंट की जा सकती है। इसके अलावा हर ट्रांजेक्शन के इस्तेमाल पर यूजर रिवॉर्ड पॉइंट भी कमा सकते हैं। पेयूमनी के इस्तेमाल से कई वेबसाइट और मर्चेंट पर सुरक्षित लेनदेन किया जा सकता है।

No comments:

Post a Comment