Monday, 26 June 2017

जानिए मोदी पहली बार ट्रम्प से मिले, मेलानिया को गिफ्ट किया शॉल, शहद,चाय और ब्रेसलेट

Image result for मोदी पहली बार ट्रम्प से मिलेनरेंद्र मोदी सोमवार देर रात 1.10 बजे (भारतीय समयानुसार) व्हाइट हाउस पहुंचे। यहां डोनाल्ड ट्रम्प ने हाथ मिलाकर मोदी का स्वागत किया। इस दौरान अमेरिका की फर्स्ट लेडी मेलानिया ट्रम्प भी मौजूद थीं।


 मुलाकात के बाद मोदी ने कहा, "जिस तरह से राष्ट्रपति और फर्स्ट लेडी ने मेरा स्वागत किया, उसका मैं आभारी हूं। ये देश के सवा सौ करोड़ भारतीयों का सम्मान है। ट्रम्प ने कहा, "मोदी का आना मेरे लिए सम्मान की बात है। वे इकोनॉमिकल फ्रंट पर अच्छा काम कर रहे हैं और इसके लिए वे बधाई के पात्र हैं।" दोनों नेताओं के बीच यह पहली मुलाकात थी। मोदी ने मेलानिया ट्रम्प को कश्मीर का हाथ से बना शॉल गिफ्ट किया। मोदी ने चाय, शहद, सिल्वर ब्रेसलेट भी दिया...

- मोदी ने मेलानिया को हिमाचल की कांगड़ा घाटी के कारीगरों के बनाया सिल्वर ब्रेसलेट भी दिया। इसके अलावा चाय और शहद भी गिफ्ट किया।

- मोदी ने ट्रम्प को अब्राहम लिंकन के निधन के बाद 1965 में जारी किया गया एक पोस्टल स्टैम्प भी दिया। इसके अलावा मोदी ने पंजाब के होशियारपुर की बनी खास लकड़ी की पेटी भी गिफ्ट की।

- उधर, ट्रम्प ने मोदी को लिंकन के फेमस गेटिसबर्ग स्पीच की कॉपी और वह डेस्क दिखाई, जिस पर वह लिखा करते थे। बता दें कि गेटिसबर्ग स्पीच में ही लिंकन ने कहा था, "सरकार, जनता का, जनता के लिए और जनता द्वारा शासन है।"
दोनों नेताओं के बीच पहली मुलाकात 20 मिनट चली

-मोदी के व्हाइट हाउस पहुंचने के पहले ट्रम्प और फर्स्ट लेडी उनका इंतजार कर रहे थे। जैसे ही मोदी पहुंचे, ट्रम्प ने ने हाथ मिलाकर मोदी का वेलकम किया। बाद में व्हाइट हाउस में अंदर जाते वक्त मोदी बीच में चल रहे थे। एक तरफ ट्रम्प और दूसरी तरफ मेलानिया साथ चल रही थीं। इसके बाद दोनोंं नेताओं के बीच करीब 20 मिनट तक मुलाकात चली। चर्चा में दोनों ने एक दूसरे की तारीफ की।

- मोदी ने कहा, "भारत की विकास यात्रा और प्रगति पर राष्ट्रपति जी का गहरा अध्ययन है। 2014 में ट्रम्प भारत आए थे, तब वे प्रेसिडेंट भी नहीं थे। उस समय उन्होंने मेरे विषय में जो पूछा और अच्छी बातें कही थीं। इसके लिए मैं उनका आभारी हूं।"

- ट्रम्प ने कहा, "मोदी का स्वागत करना मेरे लिए सम्मान की बात, वे एक महान प्रधानमंत्री हैं। मैं उनके बारे में बात करता रहता हूं और पढ़ता रहता हूं। वे बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, जिस तरह से वे इकोनॉमिकल फ्रंट पर काम कर रहे हैं, उसके लिए वे सम्मान के पात्र हैं।'
बाइलेटरल टॉक में मोदी बोले- अमेरिका और भारत मिलकर दुनियाके लिए बहुत कुछ कर सकते हैं

- मोदी ने कहा-"एक तरफ सबसे पुराना लोकतंत्र है और एक ओर दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र है। इस साझी विरासत को मिलकर आगे बढ़ा सकते हैं। भारत अमेरिका के लिए और अमेरिका भारत के लिए है। अमेरिका और भारत मिलकर विश्व के लिए बहुत कुछ कर सकते हैं और उस दिशा में आपका नेतृत्व बहुत बड़ी भूमिका अदा करेगा।"

- ट्रम्प ने कहा, "भारत और अमेरिका को भी बातचीत से बहुत उम्मीदें हैं।"
विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री से मिले मोदी

- ट्रम्प से मुलाकात से पहले मोदी ने विलार्ड होटल में रक्षा मंत्री जेम्स मैटिस से मुलाकात की। इसके बाद वे विदेश मंत्री रैक्स टिलरसन से भी मिले। मोदी की दोनों से करीब 45 मिनट तक मुलाकात चली।
मुलाकात से पहले भारत को मिली कामयाबी


- इससे पहले अमेरिका ने एक बड़ा फैसला लिया और हिज्बुल मुजाहिदीन चीफ सैयद सलाहुद्दीन को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित कर दिया। सलाहुद्दीन पाकिस्तान में रहता है। वह NIA की मोस्ट वॉन्टेड लिस्ट में भी है।

No comments:

Post a Comment