Thursday, 14 September 2017

अब गूगल से ऑनलाइन पेमेंट भीः गूगल लॉन्च करेगा मोबाइल पेमेंट सर्विस 'तेज'

नई दिल्लीः आपकी हर खबर या खोज के लिए पहली पसंद गूगल जल्द ही ऑनलाइन पेमेंट के लिए भी ऑप्शन देने वाला है. गूगल अब भारत में अपना पेमेंट सर्विस लॉन्च करने जा रहा है. माना जा रहा है कि अगले हफ्ते 18 सितंबर को गूगल यूपीआई बेस्ड पेमेंट एप को लॉन्च करेगा. ये एप गूगल स्टोर से और एप की तरह ही डाउनलोड किया जा सकेगा.
गूगल पेमेंट सर्विस का नाम होगा ‘तेज’
एक अंग्रेजी टेक वेबसाइट ‘द केन डॉटकॉम’ की खबर के मुताबिक गूगल ने अपनी पेमेंट सर्विस को ‘तेज़’ नाम दिया गया है. इसके पीछे तेजी से काम करने वाला यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) मुहैया कराने की गूगल की मंशा है. गूगल पेमेंट एप में एक खास बात ये भी है कि ऐसा पहली बार हुआ है कि एनपीसीआई ने किसी लोकल डिजिटल पेमेंट की मोबाइल ऐप के लिए मल्टी बैंक पार्टनरशिप की मंजूरी दी हो.
क्या खास होगा गूगल के पेमेंट एप में
  • यह ऐप एंड्रायड पे की तरह होगा पर गूगल वॉलेट या एंड्रॉयड पे जैसी मौजूदा पेमेंट सर्विसेज से अलग पेमेंट ऑप्शन देगा.
  • इसमें दूसरी कंज़्यूमर पेमेंट सर्विसेज जैसे पेटीएम-मोबिक्विक, फ्रीचार्ज के लिए भी सपोर्ट होगा.
  • तेज एप में सरकार द्वारा संचालित यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) के लिए सपोर्ट होगा.
नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने यूपीआई पेमेंट सिस्टम लॉन्च किया जिसे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया रेगुलेट करता है. मोबाइल प्लेटफॉर्म पर दो बैंक अकाउंट्स के बीच इंस्टेंट फंड ट्रांसफर की सहूलियत यूपीआई के जरिए मिल पाती है और कई बैंक भी अपने यूपीआई के जरिए ऑनलाइन फंड ट्रांसफर की सुविधा दे रहे हैं.
गूगल ने दो साल पहले अमेरिका में अपना पेमेंट ऐप एंड्रॉयड पे लॉन्च किया था. गूगल की पेमेंट सर्विस अमेरिका में काफी पॉपुलर भी है. हालांकि भारत में पेमेंट सर्विस एप की खबरों पर भारत में गूगल के प्रवक्ता ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.
क्यों उतरा पेमेंट सर्विस एप बाजार में गूगल ?
गौरतलब है कि पिछले साल 8 नवंबर को नोटबंदी होने के बाद देश में ऑनलाइन पेमेंट, मोबाइल पेमेंट एप और सर्विसेज के लिए बेहद बड़ा बाजार तैयार हो गया था. नोटबंदी का सबसे ज्यादा फायदा निजी मोबाइल वॉलेट कंपनी पेटीएम को मिला था और इसके साथ ही कई और ऑनलाइन पेमेंट और मोबाइल वॉलेट कंपनियों के लिए भी अपार संभावनाओं के मौके खुल गए थे. यहां तक कि हाल ही में बेहद पॉपुलर मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप ने भी नेशनल पेमेंट कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया से यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) के लिए मंजूरी मांगी थी. लिहाजा भारत के तेजी से बढ़ते ऑनलाइन पेमेंट सर्विस और बेहद कॉम्पटीटिव डिजिटल पेमेंट मार्केट में एंट्री करने का गूगल ने भी मन बना लिया.
हालांकि एक आर्थिक न्यूज पोर्टल ने जुलाई में ही खबर दी थी कि फेसबुक, गूगल, व्हाट्सऐप जैसी कंपनियां अपने प्लेटफॉर्म पर यूपीआई आधारित पेमेंट सेवा शुरू करने के लिए एनपीसीआई के साथ चर्चा कर रही हैं. वहीं गूगल ने इस पर अभी आधिकारिक तौर से कुछ भी नहीं कहा है.

No comments:

Post a Comment