Saturday, 10 February 2018

7 वें वेतन आयोग: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने वित्त मंत्री अरुण जेटली से शहीदों के बच्चों के लिए शिक्षा शुल्क कैप हटाने का अनुरोध किया

उन्होंने कहा, "बचत के बारे में 3.20 करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया गया है। उच्चतम राशि में प्रति छात्र प्रतिवर्ष 18.95 लाख रुपये प्रतिवर्ष दर्ज किया गया है।"
नई दिल्ली, 10 फरवरी: रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली से देश की सेवा करते समय सैनिकों के बच्चों के लिए 7 वीं वेतन आयोग के तहत शिक्षा शुल्क को हटाने के लिए अनुरोध किया।

इससे पहले जनवरी में सरकार ने यह स्पष्ट कर दिया था कि शहीदों के बच्चों को या उन विकलांगों को शैक्षिक सहायता प्रदान करने पर प्रति माह 10,000 रुपये की सीमा तय करने के अपने फैसले की कोई तात्कालिक समीक्षा नहीं होगी।

राज्यसभा में राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में, राज्य राज्य मंत्री सुरेश भामरे ने कहा कि 7 वीं वेतन आयोग की सिफारिशों के मुताबिक शैक्षणिक सहायता को बंद कर दिया गया है और जिन लोगों ने समीक्षा की मांग की है, उन्हें सरकार की स्थिति के बारे में सूचित किया गया है।


भारतीय नौसेना के चीफ एडमिरल सुनील लंबा ने रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को सरकार से कहा है कि वह उन बच्चों के लिए शिक्षा की प्रतिपूर्ति को सीमित करे।

भामरे ने कहा, "जवाब दिया गया है कि सरकार द्वारा स्वीकृत 7 वीं केंद्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार ट्यूशन शुल्क और हॉस्टल शुल्क की संयुक्त राशि प्रति माह 10,000 रुपये प्रति माह की गई है।"
1 9 72 में शुरू की गई इस योजना के तहत, शहीदों के बच्चों की ट्यूशन फीस या उन विकलांग व्यक्तियों को पूरी तरह से स्कूलों, कॉलेजों और अन्य पेशेवर शैक्षिक संस्थानों में छूट मिली।

हालांकि, 1 जुलाई को, सरकार ने इस राशि को 10,000 रुपये प्रति माह कैप करने का आदेश जारी किया था, जिससे सभी तीन सेवाओं में असंतोष पैदा हो गया था।

सेना, नौसेना और वायु सेना के प्रमुखों सहित स्टाफ कमेटी के चीफ्स (सीओसी) ने रक्षा मंत्रालय को पत्र लिखने के लिए कहा था कि कैप को हटाने के लिए

भैमरे ने कहा कि सरकार की सहायता के लिए सरकार के फैसले के बाद मौजूदा वित्तीय वर्ष के दौरान लगभग 250 छात्र प्रभावित हुए हैं। उन्होंने कहा कि डीए 50 फीसदी बढ़ोतरी के साथ भत्ता 25 फीसदी बढ़ाएगा।

उन्होंने कहा कि वर्ष 2017-18 (अप करने के लिए 27 दिसंबर, 2017) के दौरान कुल 2,679 छात्रों में से 1 9 3 छात्रों को दाखिला राशि से ज्यादा चित्रित करने की सूचना मिली है।

"बचत 3.20 करोड़ रुपये होने का अनुमान लगाया गया है। उच्चतम राशि प्रति छात्र प्रतिवर्ष 18.95 लाख प्रति वर्ष की गई है। "

No comments:

Post a Comment