आजका आपका राशिफल और पंचांग

❣1⃣3⃣❣0⃣3⃣❣2⃣0⃣1⃣8⃣❣
                    *ॐ ह्रीँ  नम:*          
                   *ॐ पद्मे नम:*
            *"तस्मै श्री जिनगुरूवै नमः"*
              卐 क्षि प ॐ स्वा हा 卐 
              卐 हा स्वा ॐ प क्षि 卐
          💕ⒿⒾⓃⒼⓊⓇⓊⒹⒺⓋ💕
👉❤*संभावित राशिफल* 13.03.2018❤
👉   ☯🌼1⃣3⃣का  जैन पंचांग 🌼☯
          👉😇स्वप्न फल कथन 😇👈
🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻

😇🤓🤩स्वप्न ज्योतिष के अनुसार नींद में दिखाई देने वाले हर सपने का एक ख़ास संकेत होता है, एक ख़ास फल होता है।😇🤓🤩

❤स्वपन ज्योतिष के अनुसार संभावित फल बतारहे है।❤
   🌺🌺ⒿⒾⓃⒼⓊⓇⓊⒹⒺⓋ🌺🌺

🧡1⃣1⃣1⃣चेक लिखकर देना- विरासत में धन मिलना
💛1⃣1⃣2⃣कुएं में पानी देखना- धन लाभ
💚1⃣1⃣3⃣आकाश देखना - पुत्र प्राप्ति
💙1⃣1⃣4⃣अस्त्र-शस्त्र देखना- मुकद्में में हार
💜1⃣1⃣5⃣इंद्रधनुष देखना - उत्तम स्वास्थ्य

🔥🔥IMP NOTE:~ 
💥💥 स्वप्न ज्योतिष के मुताबित दिन मै देखे गये स्वप्न का कोई फल नई मिलता जयादा दूसरे मेसेज मै भेजूँगा💥💥

🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻

🌹तपागच्छाचार्य, ज्योतिष विशारद आचार्य. श्री. जिनचन्द्रसूरीश्वरजी महाराज साहेब द्वारा संभावित राशिफल🌹

🕉*卐0⃣ 1⃣ⒿⒾⓃ 🐑मेष :~ अ, ल, इ👉* : व्यापार-धंधे के संबंध में प्रवास होगा और उसमें लाभ होगा। व्यवसाय के क्षेत्र में आपको लाभ, मान और प्रतिष्ठा की प्राप्ति होगी। नौकरी में पदोन्नति मिलेगी। आग, पानी और वाहन दुर्घटना के प्रति सजग रहें। 

🕉*卐0⃣2⃣ⒿⒾⓃ🐂वृषभ :~ ब, व, उ👉* :व्यापारियों के लिए आज का दिन शुभ है। नए आयोजनों को हाथ में ले सकेंगे। आर्थिक लाभ भी प्राप्त कर सकेंगे। विदेश में रहनेवाले मित्रों या स्वजनों का समाचार आपको भाव विभोर करेगा। लंबी दूरी की यात्रा का योग है। तीर्थयात्रा कर सकते हैं। 

🕉*卐0⃣3⃣ ⒿⒾⓃ💑मिथुन :~  क, छ, * :आज क्रोध की भावना पर नियंत्रण रखने की सलाह हैं। खर्च बढ़ जाने से आर्थिक तंगी महसूस करेंगे। कुटुंबीजनों और सहकर्मियों के साथ मनमुटाव हो सकता है। स्वास्थ्य नरम रह सकता है। 

🕉*卐0⃣4⃣ ⒿⒾⓃ🦀कर्क :~ ड, ह👉* : आज के दिन मौज-शौक और मनोरंजन की प्रवृत्तियों में आप सराबोर होंगे। स्वादिष्ट भोजन और नए वस्त्राभूषण आदि की खरीदारी होगी। वाहन सुख प्राप्त होगा। सार्वजनिक क्षेत्र में मान-सम्मान तथा व्यवसाय के क्षेत्र में साझेदारी से लाभ मिलेगा।

🕉*卐0⃣5⃣ ⒿⒾⓃ🦁सिंह :~ म, ट👉*  : परिवार में हर्षोल्लास का वातावरण रहेगा। यश, कीर्ति और आनंद की प्राप्ति होगी। नौकरी के क्षेत्र में सहकर्मियों से सहयोग प्राप्त होगा। बीमार व्यक्तियों को रोग से मुक्ति मिलेगी। ननिहाल की तरफ से अच्छे समाचार मिलेंगे तथा लाभ होगा। 

🕉*卐0⃣6⃣ ⒿⒾⓃ👸🏼कन्या :~ प, ठ, ण👉* : आज आप संतान की समस्या से चिंतित रहेंगे। विद्यार्थियों की पढ़ाई में बाधा आ सकती है। बौद्धिक चर्चा तथा बातचीत में भाग न लें। प्रणय प्रकरण में सफलता मिलेगी। प्रिय व्यक्ति के साथ मुलाकात हो सकती है।

🕉*卐0⃣7⃣ ⒿⒾⓃ⚖तुला :~ र, त👉* : अत्यधिक संवेदनशीलता और विचारों के बवंडर से आप मानसिक अस्वस्थता का अनुभव करेंगे। माता और स्त्रियों के मामले में आपको चिंता रहेगी। जमीन सम्बंधी मामलों में सावधानीपूर्वक व्यवहार करने की गणेशजी सलाह देते हैं। 

🕉*卐0⃣8⃣ ⒿⒾⓃ🦂वृश्चिक :~ न, य👉* : आज का दिन खुशीपूर्वक व्यतीत करेंगे। नए कार्य की शुरुआत करेंगे। घर में भाई-बहनों के साथ मेल-मिलाप रहेगा। स्वजनों और मित्रों के साथ मिलन-मुलाकात होगी। आज आपके कार्य सफल होंगे। लोकप्रियता में वृद्धि होगी। 

🕉*卐0⃣9⃣ ⒿⒾⓃ🏹धनु :~ भ, ध,फ👉* : दिन मध्यम फलदायी साबित होगा। मानसिक व्यवहार में दृढ़ता कम होने से कोई भी निर्णय तेजी से नहीं ले सकेंगे। महत्वपूर्ण निर्णय लेने से बचें। व्यर्थ धन खर्च और कार्यभार आपके मन को परेशान कर सकते हैं।

🕉*卐1⃣0⃣ ⒿⒾⓃ🐏मकर :~ ख, ज👉* : ऑफिस या व्यावसायिक स्थान पर आपका वर्चस्व बढ़ेगा। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा। मित्रों और स्नेहीजों के साथ मुलाकात से खुशी का वातावरण रहेगा। उत्तम भोजन और वस्त्राभूषण मिलेंगे तथा वैवाहिक जीवन में सुख-संतोष का अनुभव होगा। 

🕉*卐1⃣1⃣ⒿⒾⓃ⚱कुंभ :~ ग, स, श, ष👉* : आज किसी की जमानत लेने तथा आर्थिक लेन-देन नहीं करने की सलाह हैं। खर्च की मात्रा अधिक रहेगी। स्वजनों के साथ मतभेद हो सकता है। किसी का हित करने में स्वयं परेशानी में पड़ जाने की आशंका है। क्रोध पर नियंत्रण रखें। 

🕉*卐1⃣2⃣ⒿⒾⓃ🐠मीन :~ द, च👉*: सामाजिक कार्यों या समारोहों में भाग लेने का अवसर आएगा। मित्रों एवं स्नेहीजनों के साथ मुलाकात से मन को खुशी मिलेगी। शुभ समाचार मिलेगा। संतानों से लाभ प्राप्त होगा। आकस्मिक धन प्राप्त होने की संभावना है।


*🔴आजनुं जैनपंचांग🔴*
    (अमदावाद प्रमाणे)
  *आवती काले बारस छे*
 आजे लीलोत्तरीनो ❎त्याग
-----------------------
*जैनवीर संवत 2544*  
*विक्रम संवत 2074* 
*तारीख 13 मार्च 2018*
*वार 🚫:मंगळवार* 
*🔴मास :-  फागण वद*
*तिथि :- (11) अगियारस*
*नक्षत्र*:- उत्तराषाढा
       12-032  थी श्रवण
*चन्द्रराशि* : - मकर  (ख,ज)
  ------------------------
🔵 *आजनो दिवस मध्यम छे*
वज्रमूशळयोग,सूर्यो, थी 12-35,
कुमारयोग, 12-32, थी 13-42,
---------------------
*दक्षिणभारतमां प्रचलित राहुकाळ,*फ
गुलिककाळ,एवं यमघंडकाळनो 
समय,  मंगळवार
🌑राहुकाळ,15:00 थी 16:30 (अशुभ)
🔴गुलिककाळ,12:00 थी 13:30 (शुभ)
🌑यमघंडकाळ,09:00 थी 10:30 (अशुभ)
---------------------------
 *@पच्चक्खाणनो समय@*
+   *🚫(अमदावाद)🚫*
*🌞सूर्योदयः* सवारे 06-52
*कामळीनोकाळ:* सवारे 07-40
*नवकारशी:* सवारे 07-40
*पोरसी*:सवारे 09:52
*साढपोरसी:* सवारे 11-21
*पुरिमढ्ढः*बपोरे 12-50
*अवढ्ढ:* बपोरे 03-49
*कामळीनोकाळ*:सांजे 05-58
*@सांजनी बे घडी* 05-58
*🌚सूर्यास्त*: सांजे 06-46
+-----------------------
*✈  मुम्बई*  
🌞 सूर्योदय : सवारे 06:51
☕नवकारशी : सवारे 07:39
🌚 सूर्यास्त : सांजे 06:46
------------------------
*🔴 दिल्ही*
🌞 सूर्योदयः सवारे 06:35
☕ नवकारशी: सवारे 06:23
🌑 सूर्यास्त: सांजे  06:26
--------------------------
*🍯 चेन्नाई*
🌞 सूर्योदय : सवारे  06:19
☕ नवकारशी: सवारे 07:07
🌚 सूर्यास्त : सांजे   06:18
------------------------
*🔔 कलकत्ता*
🌞सूर्योदय : सवारे   05:49
☕ नवकारशी : सवारे 06:37
🌚सूर्यास्त : सांजे   05:43
_____________________
*🌞(दिवसना चोघडीया)🌞*
🔹3🔸चलःसवारे 09-51  थी  11-20
🔸4🔹लाभ:सवारे 11-20 थी 12-49
🔹5🔸अमृत: बपोरे 12-49 थी 02-18
🔸7🔹शुभ: बपोरे 03-47 थी 05-16
-----------------------  
*🌑रात्रिना शुभ चोघडीया🌚*
🔹2🔸लाभ: रात्रे  08-16 थी 09-47
🔸4🔹शुभ:रात्रे 11-18 थी 12-49
🔹5🔸अमृत: रात्रे 12-49 थी 02-19
🔸6🔹चल: रात्रे 02-19 थी  03-50
-----------------------
*🌞मंगळवारनी दिवसनी शुभ होरा,🌞*, 
🔹3,🔸शुक्र 08:51 थी 09:51
🔸4,🔹बुध 09:51 थी 10-50
🔹5🔸चन्द्र 10:50 थी 11:50
🔸7,🔹गुरू 12:49 थी 01:48
🔹10,🔸शुक्र 03:47 थी 04:47
🔸11,🔹बुध 04:47 थी 05:46
🔸12,🔹चन्द्र 05-46 थी 06-46
---------#--------------#---
*🌚मंगळवारनी रात्रिनी शुभ होरा*
🔸2🔹गुरू 07:46 थी 08:47
🔹5🔸.शुक्र 10:48 थी 11:48
🔸6,🔹बुध 11:48 थी 12:49
🔹7🔸चन्द्र 12:49 थी 01:49
🔸9🔹गुरू 02:50 थी 03:50
🔹12🔸शुक्र 05:51 थी 06:52

——————————
पंचांग कर्ता *विधिकारकः* 
*शाह संजयभाई सोमाभाई*
*(पाईपवाला) ना प्रणाम*
——————————
*| | : J I N : | |®™*
*जिन शीशू अजित*
_देवी स्वप्न द्वारा निर्मित_ ८४ जिनालय समलंकृत
 *सावत्थीतीर्थ धाम*
_बावला, अहमदाबाद_
आजीवन गुरुचरणसेवी
*मुनी अजितचन्द्र विजय*

No comments:

Post a Comment